Blogger Tips and TricksLatest Tips And TricksBlogger Tricks

kaavya manjari

Friday, May 31, 2013

हर बार की तरह......................

तसव्वुर - ए-गुमान ने, एक शोहरत अदा कर दी हमें |
हर बार की तरह इस बार भी,एक हसरत अदा कर दी हमें||

शौक भी बच्चों के ,......कब से सिमटते ही रह गये 
महंगाई तो महंगाई है,पर हम सिसकते ही रह गये ||

आजमाइश की तकलीफ़ में,.......हम तड़पते ही रह गये |
एक जख्म की खातिर ,हम मरहम में लिपटते ही रह गये ||

चर्चे तो सन्सद में ,............  हर शाम होते हैं    |
गुफ़्तगू की छांव में ,....  मलहमी पैगाम होते हैं ||

तालियां तो तोतली ,............बार बार होती हैं |
रहनुमाई बोलती ,.........जब नागवार होती हैं ||

5 comments:

  1. Your lovely blog submited in blogkalash.

    ReplyDelete
  2. bhaut hi khubsurat blog h...usse bhi jayeda acchi rachnaaye hai....

    ReplyDelete
  3. वाह...क्या खूब...

    ReplyDelete
  4. बहुत पसन्द आया
    हमें भी पढवाने के लिये हार्दिक धन्यवाद

    ReplyDelete